power

शयन विधान

सूर्यास्त के एक प्रहर (लगभग 3 घंटे) के बाद ही शयन करना। सोने की मुद्राऐं:              उल्टा सोये भोगी,            सीधा सोये योगी,            दांऐं सोये रोगी,            बाऐं सोये निरोगी। शास्त्रीय विधान भी है। आयुर्वेद में ‘वामकुक्षि’ की …

शयन विधान Read More »